Satsang (H)

Three means to realise God
Availability: In stock
Pages: 48
*
*

प्रस्तुत पुस्तक में साधकों के लिए विशेष निर्देश है, जो आचार्य श्री ने आदेश दिया है कि प्रत्येक साधक के लिए प्रतिदिन इसका पठन और मनन एवं परिपालन अत्यधिक आवश्यक है। वी. सी. डी. सुनने की सुविधा न होने पर पुस्तक द्वारा ही साधक पूर्ण लाभ ले सकते हैं। अत: आचार्य श्री के शब्दों को यथार्थ रूप में ही लिखा जा रहा है चाहे वह अंग्रेजी के शब्द हों या हिन्दी के। 

Recently viewed Books