Your browser does not support JavaScript!

G-12, G-14, Plot No-4 CSC, HAF Sector-10, Dwarka 110075 New Delhi IN
जे के पी लिटरेचर
G-12, G-14, Plot No-4 CSC, HAF Sector-10, Dwarka New Delhi, IN
+918588825815 //cdn.storehippo.com/s/61949a48ba23e5af80a5cfdd/621dbb04d3485f1d5934ef35/webp/logo-18-480x480.png" rgs@jkpliterature.org.in
61c0812e11317a926093ab91 साधन साध्य - गुरुपूर्णिमा 2018 //cdn.storehippo.com/s/61949a48ba23e5af80a5cfdd/61c1c1012149f636ae071c20/webp/gp18.jpg

गुरु पूर्णिमा पर्व पर सभी भक्तों को हार्दिक बधाई।

सृष्टि कर्ता ब्रह्मा के समान ज्ञान का सृजन करने वाले, भगवान् विष्णु के समान ज्ञान की रक्षा करने वाले एवं शिव के समान अज्ञान का संहार करने वाले दिव्य ज्ञान के भास्कर भक्तियोगरसावतार परम प्रिय श्री गुरुवर के चरणों में कोटि-कोटि प्रणाम करते हुए सभी पाठकों को गुरु पूर्णिमा पर्व पर हार्दिक बधाई।

गुरु पूर्णिमा का पर्व गुरु महिमा का गुणगान करते हुए उनका आभार प्रकट करने का पर्व है। यद्यपि किसी भी प्रकार से, कोई भी जीव उनके ऋण से कभी भी उऋण नहीं हो सकता। फिर भी उनके अकारण करुण विरद को सोचते हुए यत्किंचित् प्रयास किया जाता है। यद्यपि साधन साध्य उनकी अलौकिक वाणी को आधार बनाकर ही प्रकाशित की जाती है। फिर भी प्रसंगानुसार जो भी लेख लिखे जाते हैं उनमें किसी प्रकार की त्रुटि के लिए क्षमा प्रार्थी हैं।

Sadhan Sadhya - Guru Poornima 2018
in stockUSD 80
1 1
Sadhan Sadhya Guru Poornima 2018

साधन साध्य - गुरुपूर्णिमा 2018

भाषा - हिन्दी

$5
$6.25   (20%छूट)
डॉलर में प्रदर्शित मूल्य अमेरिकी डॉलर में है


प्रकारविक्रेतामूल्यमात्रा

विवरण

गुरु पूर्णिमा पर्व पर सभी भक्तों को हार्दिक बधाई।

सृष्टि कर्ता ब्रह्मा के समान ज्ञान का सृजन करने वाले, भगवान् विष्णु के समान ज्ञान की रक्षा करने वाले एवं शिव के समान अज्ञान का संहार करने वाले दिव्य ज्ञान के भास्कर भक्तियोगरसावतार परम प्रिय श्री गुरुवर के चरणों में कोटि-कोटि प्रणाम करते हुए सभी पाठकों को गुरु पूर्णिमा पर्व पर हार्दिक बधाई।

गुरु पूर्णिमा का पर्व गुरु महिमा का गुणगान करते हुए उनका आभार प्रकट करने का पर्व है। यद्यपि किसी भी प्रकार से, कोई भी जीव उनके ऋण से कभी भी उऋण नहीं हो सकता। फिर भी उनके अकारण करुण विरद को सोचते हुए यत्किंचित् प्रयास किया जाता है। यद्यपि साधन साध्य उनकी अलौकिक वाणी को आधार बनाकर ही प्रकाशित की जाती है। फिर भी प्रसंगानुसार जो भी लेख लिखे जाते हैं उनमें किसी प्रकार की त्रुटि के लिए क्षमा प्रार्थी हैं।

विशेष विवरण

भाषाहिन्दी
शैली / रचना-पद्धतिआध्यात्मिक पत्रिका
फॉर्मेटपत्रिका
लेखकपरम पूज्या डॉ श्यामा त्रिपाठी
प्रकाशकराधा गोविंद समिति
आकार21.5 सेमी X 28 सेमी X 0.4 सेमी

पाठकों के रिव्यू

  0/5