Jeev Ka Lakshya

The aim of human life
Availability: In stock
Pages: 208
*
*

‘जीव का लक्ष्य’ जगद्​गुरु श्री कृपालु जी महाराज द्वारा दी गई इस प्रवचन शृंखला में सात प्रवचन हैं जो उन्होंने भक्ति-धाम मनगढ़ में होली साधना शिविर २००३ में (११ मार्च से १७ मार्च) दिये। सभी श्रोताओं का यह प्रेमाग्रह रहता है कि VCDs, DVDs, कैसेट्स के साथ-साथ यदि श्री महाराज जी के प्रवचन पुस्तक रूप में भी प्राप्त हो जायें तो विषय अधिक हृदयग्राही हो जाता है। सभी प्रवचनों का प्रकाशित होना तो सम्भव ही नहीं है। धीरे-धीरे कुछ-कुछ प्रवचन प्रकाशित किये जा रहे हैं। पुस्तकों की शृंखला ‘प्रवचन माधुरी’ में यह पुस्तक नं. १२ है।

प्रवचन यथार्थ रूप में ही प्रकाशित किये जा रहे हैं। अंग्रेजी के शब्दों का भी हिन्दी अनुवाद नहीं किया गया है जिससे आचार्य श्री के श्रीमुख से नि:सृत वाणी मूल रूप में ही रहे।

Recently viewed Books